Home / Beauty / कद्दू के बीज के फायदे, उपयोग और नुकसान

कद्दू के बीज के फायदे, उपयोग और नुकसान

कद्दू के बीज के फायदे, उपयोग और नुकसान – Pumpkin Seeds Advantages, Makes use of and Aspect Results in Hindi Hyderabd040-395603080 July 10, 2019

कद्दू की गिनती स्वादिष्ट और गुणकारी सब्जियों में होती है। कद्दू से विभिन्न प्रकार के लजीज व्यंजनों का निर्माण किया जाता है, जैसे – मालपुआ, कुद्दू का हलवा व खीर आदि। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम सिर्फ कद्दू के बारे में ही नहीं, बल्कि कद्दू के बीज के विषय में बताने जा रहे हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि कद्दू के छोटे-छोटे बीज कैंसर व उच्च रक्तचाप जैसी गंभीर समस्याओं का इलाज करने के काम आ सकते हैं। आइए जानते हैं विभिन्न बीमारियों के लिए कद्दू के बीज के फायदे और कद्दू के बीज खाने का तरीका।

विषय सूची

कद्दू के बीज के फायदे – Advantages of Pumpkin Seeds in Hindi

कद्दू के बीजों पर कई अध्ययन किए जा चुके हैं, जिसमें इसके विभिन्न औषधीय गुणों के बारे में पता चला है। आंतरिक स्वास्थ्य से लेकर कद्दू के बीज त्वचा व बालों के लिए भी फायदेमंद माने जाते हैं। पोषक तत्वों की बात करें, तो कद्दू के बीज फाइबर से समृद्ध होते हैं, जो पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के साथ-साथ, कब्ज जैसी समस्या और मोटापे को कम करने का काम करते हैं (1)। इससे अलावा, इसमें विटामिन-सी और ई भी पाया जाता है, जो त्वचा के लिए सबसे कारगर विटामिन माने जाते हैं (2)। इसके अलावा, कद्दू के बीज कैलोरी, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, सोडियम व फोलेट आदि से भी समृद्ध होते हैं (3)। चलिए, अब नीचे जानते हैं कि शरीर की कौन-कौन सी समस्याओं के लिए कद्दू का बीज फायदेमंद हो सकता है। साथ ही जानते हैं कि शरीर के लिए कद्दू के बीज खाने के फायदे।

सेहत के लिए कद्दू के बीज के फायदे – Well being Advantages of Pumpkin Seeds in Hindi

1. रोग प्रतिरोधक क्षमता

कद्दू के बीजों में विटामिन-सी पाया जाता है, जो कारगर एंटीऑक्सीडेंट है। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने में इस विटामिन की अहम भूमिका होती है। विटामिन-सी पूरी प्रतिरक्षा प्रणाली को नियंत्रित करने का काम करता है। शरीर में इस खास विटामिन की कमी से स्कर्वी (शरीर में विटामिन सी की कमी) हो सकता है जिससे थकान, कमजोरी जैसे लक्षण सामने आ सकते हैं (3), (4)। विटामिन सी की पूर्ति के लिए आप कद्दू के बीजों को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

इसके अलावा, कद्दू के बीजों में फाइबर भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। फाइबर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने का काम कर सकता है (5)।

2. मधुमेह

मधुमेह के लिए भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, अलसी और कद्दू के बीजों से बना सप्लीमेंट मधुमेह का इलाज कर सकता है, लेकिन इस पर अभी और शोध की आवश्यकता है (6)। इसके अलावा, कद्दू के बीज को फाइबर का अच्छा स्रोत माना गया है। एक अध्ययन के अनुसार, टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों के लिए फाइबर प्रभावी इलाज हो सकता है (3), (7)।

मधुमेह के मामले में विटामिन-सी भी प्रभावी साबित हो सकता है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार, 1000mg/प्रतिदिन लिया गया विटामिन सप्लीमेंट टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों में रक्त शर्करा और फैट को कम करने में मददगार साबित हो सकता है (3), (8)। एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, डायबिटीज के लिए इटिंग प्लान में अनसैचुरेटेड नट्स के साथ अनसैचुरेटेड बीजों को भी शामिल किया जा सकता है (9) और कद्दू के बीज में अनसैचुरेटेड फैट मौजूद होता है (3)।

3. हृदय स्वास्थ्य

हृदय स्वास्थ्य के लिए भी कद्दू के बीज खाने के फायदे हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, कद्दू के बीज का तेल महिलाओं में रक्तचाप को नियंत्रित कर सकता है। रक्तचाप ठीक रहने से हृदय रोग से भी बचा जा सकता है (10)।

जैसा कि हमने बताया है कि कद्दू के बीज फाइबर से समृद्ध होते हैं, जिसका लाभकारी प्रभाव हृदय स्वास्थ्य पर भी देखा जा सकता है। अध्ययन के अनुसार, शरीर का बढ़ता मोटापा स्ट्रोक की आशंका बढ़ा सकता है। यहां फाइबर की अहम भूमिका देखी जा सकती है। फाइबर वजन को नियंत्रित करने का काम कर सकता है (3), (11), (12)।

इसके अलावा, कद्दू के बीज में मौजूद पोटैशियम रक्तचाप को नियंत्रित कर हृदय जोखिम को कम कर सकता है (3), (13)।

4. अनिद्रा

कद्दू के बीज खाने के फायदे में अनिद्रा से छुटकारा भी है। कद्दू के बीज मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत हैं और मैग्नीशियम मांसपेशियों को आराम देने का काम करता है (3), (14), जिससे अच्छी नींद आ सकती है।

5. हड्डी स्वास्थ्य

हड्डियों के विकास, उनके निर्माण और देखभाल के लिए कैल्शियम सबसे जरूरी तत्व है। कैल्शियम की कमी ऑस्टियोपोरोसिस जैसे हड्डी रोगों का कारण बन सकती है, जिसमें हड्डियां नाजुक और कमजोर हो जाती हैं। इसके अलावा, शरीर में पर्याप्त कैल्शियम न होने पर हड्डियों में फ्रैक्चर भी हो सकता है (15)। यहां आपकी मदद कद्दू के बीज कर सकते हैं, क्योंकि इनमें कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है (3)।

हड्डि्यों के लिए मैग्नीशियम भी एक जरूरी पोषक तत्व है। हड्डियों के निर्माण में यह एक अहम भूमिका निभाता है। मैग्नीशियम की पूर्ति के लिए आप कद्दू के बीजों का सेवन कर सकते हैं (3), (16)।

6. प्रोस्टेट स्वास्थ्य

प्रोस्टेट एक ग्रंथी है, जो वीर्य के उत्पादन में मदद करती है। यह लिंग के पास मौजूद होती है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ इसका आकार भी बढ़ता है, लेकिन जरूर से ज्यादा बढ़ने पर कुछ जटिलताएं पैदा हो सकती हैं (17)। इन्हें स्वस्थ रखने के लिए कद्दू के बीज एक अहम भूमिका निभा सकते हैं।

कद्दू के बीज विटामिन-सी से समृद्ध होते हैं और एक अध्ययन में प्रोस्टेट कैंसर के लिए विटामिन-सी को लाभकारी बताया गया है। विटामिन-सी युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन कर प्रोस्टेट कैंसर के जोखिम को कम किया जा सकता है। अध्ययन के अनुसार, 150mg/प्रतिदिन विटामिन-सी की खुराक इस घातक कैंसर के खतरे को 9 प्रतिशत तक कम कर सकती है (3), (18)।

7. तनाव होता है कम

तनाव मुक्त रहने के लिए भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। कद्दू के बीज में विटामिन-सी पाया जाता है और एक रिपोर्ट के अनुसार विटामिन-सी न्यूरोट्रांसमीटर (एक ब्रेन केमिकल) के निर्माण करने का काम करता है। वैज्ञानिक रिपोर्ट के अनुसार, न्यूरोट्रांसमीटर मस्तिष्क की गतिविधियों में सुधार कर मूड और नींद को नियंत्रित करने का काम करता है, जिससे तनाव जैसी मानसिक स्थितियों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है (3), (19)। कद्दू के बीज मैग्नीशियम से भी समृद्ध होते हैं, जिससे आपको शांत रहने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, कद्दू के बीज में विटामिन-बी और जिंक जैसे पोषक भी पाए जाते हैं, जो तनाव को दूर करने का काम कर सकते हैं (20)।

8. गठिया

गठिया जैसे हड्डी रोगों के लिए भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। पमकिन सीड कैल्शियम से समृद्ध होते हैं, जो ऑस्टियोपोरोसिस होने की आशंका को कम कर सकते हैं। इसके अलावा, अपने आहार में अच्छे फैट जैसे मोनोसैचुरेटेड को शामिल कर अर्थराइटिस से बचा जा सकता है (3), (21)।

9. ब्लैडर स्टोन

पमकिन सीड से बने सप्लीमेंट ब्लैडर स्टोन से निजात दिलाने का काम भी कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, कद्दू के बीज में फास्फोरस की मात्रा पर्याप्त होती है। इससे ब्लैडर स्टोन के जोखिम को कम किया जा सकता है। रिपोर्ट बताती है कि कद्दू के बीज से बने सप्लीमेंट को जितने ज्यादा दिनों तक लिया जाएगा, वो उतना प्रभावी असर दिखा सकता है (22)।

10. पोस्टमेनोपॉज लक्षणों को करता है कम

एक अध्ययन के अनुसार, कद्दू के बीज का तेल फाइटोएस्ट्रोजन से भरपूर होता है, जो रजोनिवृत्ति के बाद (Menopause) के लक्षणों जैसे हॉट फ्लॉश (अचानक बेचैन कर देने वाली गर्मी का एहसास), सिरदर्द और जोड़ों में होने वाले दर्द को कम करने का काम कर सकता है। साथ ही कद्दू के बीज रजोनिवृत्ति से जूझ रही महिलाओं में डायस्टोलिक रक्तचाप (DBP) को कम करने के साथ-साथ अच्छे कोलेस्ट्रॉल (HDL) के स्तर बढ़ा सकते हैं (23)।

11. पाचन के लिए

भोजन को पचाने में भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। पमकिम सीड में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो पाचन क्रिया को मजबूत करने के साथ-साथ कब्ज जैसी पेट संबंधी समस्या से भी छुटकारा दिलाने का काम करता है (3), (24)।

12. दृष्टि में सुधार

आंखों के लिए भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। यह विटामिन-ए से समृद्ध होता है, जो अंधेरे में भी दृष्टि को बढ़ावा देने का काम कर सकता है (3), (25)।

13. बेहतर प्रतिरोधक क्षमता

कद्दू के बीज विटामिन-सी से समृद्ध होते हैं, जो कारगर एंटीऑक्सीडेंट है। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का काम करता है (3), (4)। इसके अलावा, पमकिम सीड में फाइबर भी होता है, जो इम्यून सिस्टम की कार्यक्षमता को बेहतर करने में मदद कर सकता है (3), (5)।

14. रक्तचाप

रक्तचाप के लिए भी कद्दू के बीजों की भूमिका देखी जा सकती है। एक रिपोर्ट के अनुसार, कद्दू के बीजों का तेल अपने एंटी-हाइपरटेंसिव गुण से उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभा सकता है (26)। एक अध्ययन में पाया गया है कि कद्दू के बीज महिलाओं में रजोनिवृत्ति के दौरान डायस्टोलिक रक्तचाप (DBP) को कम कर सकते हैं (23)।

15. ब्रेस्ट कैंसर

कैंसर के लिए भी कद्दू के बीज खाने के फायदे देखे जा सकते हैं। एक अध्ययन से पता चला है कि कद्दू के बीज स्तन कैंसर के जोखिम को कम करने का काम कर सकते हैं (27)।

16. यूरिनरी इनकंटीनेंस

यूरिनरी इनकंटीनेंस ऐसी अवस्था, जिसमें पेशाब पर कोई नियंत्रण नहीं रहता। खासकर, बुजुर्गों में यह समस्या ज्यादा देखी जाती है। एक रिपोर्ट के अनुसार, पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियां कमजोर होने पर यूरिनरी इनकंटीनेंस की समस्या हो सकती है। यहां आपकी मदद कद्दू के बीज कर सकते हैं। कद्दू के बीज पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को मजबूत करने का काम कर सकते हैं (28), (29)।

17. मस्तिष्क स्वास्थ्य

मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। कद्दू के बीज में विटामिन-सी होता है। वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, न्यूरोनल परिपक्वता और ऑक्सिडेंटिव तनाव (Oxidative Stress) के खिलाफ मस्तिष्क की सुरक्षा के लिए विटामिन-सी का महत्व समझा जा सकता है (3), (30)। इसलिए, मस्तिष्क स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए आप कद्दू के बीज का सेवन कर सकते हैं।

18. बॉडी का पीएच स्तर

कद्दू के बीजों को अल्कलाइन फार्मिंग फूड्स में गिना जाता है, जो शरीर का पीएच बनाए रखने में आपकी मदद कर सकते हैं (31), (32)।

19. एनीमिया

एनीमिया की रोकथाम के लिए भी कद्दू के बीजों के फायदे देखे जा सकते हैं। एनीमिया यानी शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में रुकावट। इसका मुख्य कारण शरीर में आयरन और फोलेट की कमी होना है (33), (34)। यहां कद्दू के बीज आपकी मदद कर सकते हैं, क्योकि इसमें आयरन और फोलेट दोनों पोषक तत्व पाए जाते हैं (3)।

20. पेट में कीड़ों से रोकथाम

पेट के कीड़ों को मारने के लिए पमकिम सीड एक प्रभावी उपचार हो सकता है। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, कद्दू के बीज टेपवार्म इंफेक्शन पर 89 प्रतिशत बेहतर तरीके से काम कर सकते हैं (35)।

21. पेट भरा रखता है

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि कद्दू के बीज फाइबर से समृद्ध होते हैं और फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ पेट को लंबे समय तक भरा रखने काम कर सकते हैं (3), (36)।

सेहत के लिए कद्दू के बीज के फायदे जानने के बाद आप जान लेते हैं त्वचा के लिए कद्दू के बीज खाने के फायदे।

त्वचा के लिए कद्दू के बीज के फायदे – Pores and skin Advantages of Pumpkin Seeds in Hindi

सेहत के अलावा त्वचा के लिए भी कद्दू के बीज के फायदे बहुत हैं। नीचे जानिए स्किन से संबंधित समस्याओं पर कद्दू के बीज किस प्रकार काम करते हैं। इसके बाद हम लेख में आगे बताएंगे कि कद्दू के बीज कैसे खाएं।

1. त्वचा को करता है मॉइस्चराइज

सामग्री :
  • एक कप कद्दू के बीज पिसे हुए
  • एक बड़ा चम्मच मक्खन पिघला हुआ
  • एक अंडा फेंटा हुआ
कैसे करें इस्तेमाल :
  • पिसे हुए कद्दू के बीजों को पिघले हुए मक्खन के साथ मिलाएं।
  • अब इसमें अंडा फेंट कर डालें और अच्छी तरह ब्लेंड करें।
  • अब इस पेस्ट को अपनी त्वचा पर लगाएं और 10-15 मिनट पेस्ट के सूखने का इंतजार करें।
  • अब ठंडे पानी से त्वचा को धो लें।
  • बेहतर परिणाम के लिए यह प्रक्रिया आप हफ्ते में तीन-चार बार कर सकते हैं।
कैसे है लाभदायक :

कद्दू के बीज विटामिन-सी से समृद्ध होते हैं, जो त्वचा को मॉइस्चराइज करने का काम करता है (3), (37)।

2. भरता है घाव को

सामग्री :

कद्दू के बीज (भुने/कच्चे/अंकुरित)

कैसे करें इस्तेमाल :

प्रतिदिन एक मुट्ठी कच्चे, अंकुरित या भुने हुए कद्दू के बीजों का सेवन करें।

कैसे है लाभदायक :

कद्दू के बीज विटामिन-ए से समृद्ध होते हैं और विटामिन-ए घाव को जल्द भरने का काम कर सकता है (38)।

3. मुंहासे

सामग्री :
  • कद्दू के बीज (भुने/कच्चे/अंकुरित)
  • दूध (वैकल्पिक)
कैसे करें इस्तेमाल :
  • प्रतिदिन मुट्ठी भर कच्चे, अंकुरित या भुने हुए कद्दू के बीजों को खाएं।
  • आप दूध के साथ कद्दू के बीज को पीस कर मिला सकते हैं और इस दूध का सेवन रोजाना कर सकते हैं।
कैसे है लाभदायक :

कद्दू के बीजों में जिंक पाया जाता है, जो एंटीइंफ्लेमेटरी गुण से समृद्ध होता है। जिंक आपको मुंहासों से निजात दिलाने का काम कर सकता है (3), (39)।

4. एजिंग को करता है कम

सामग्री :

कद्दू के बीज (भुने/कच्चे/अंकुरित)

कैसे करें इस्तेमाल :

रोजाना एक मुट्ठी कच्चे, अंकुरित या भुने हुए कद्दू के बीजों का सेवन करें।

कैसे है लाभदायक :

कद्दू का बीज विटामिन-सी से समृद्ध होता है और विटामिन-सी को त्वचा के लिए चुनिंदा पोषक तत्वों में गिना जाता है। यह चेहरे से झुर्रियों को हटाकर एजिंग के प्रभाव को कम कर सकता है (40)।

5. स्कीन कैंसर

सामग्री :

कद्दू के बीज (कच्चे या अंकुरित)

कैसे करें इस्तेमाल :

रोजाना सुबह मुट्ठी भर कच्चे या अंकुरित कद्दू के बीजों का सेवन करें।

कैसे है लाभदायक :

कद्दू के बीज फैटी एसिड से समृद्ध होते हैं और एक अध्ययन के अनुसार फैटी एसिड त्वचा को स्किन कैंसर से बचाने का काम कर सकता है (41), (42)।

सेहत और त्वचा के बाद अब आगे जानिए बालों के लिए कद्दू के बीज के गुण।

बालों के लिए कद्दू के बीज के फायदे – Hair Advantages of Pumpkin Seeds in Hindi

सेहत और त्वचा के अलावा बालों के लिए भी कद्दू के बीज के बहुत फायदे हैं। नीचे जानिए कद्दू के बीज बालों पर किस प्रकार काम करते हैं।

1. बालों का विकास

सामग्री :
  • कद्दू के बीज (भुने/कच्चे/अंकुरित)
  • कद्दू के बीज का तेल (वैकल्पिक)
कैसे करें इस्तेमाल :
  • रोजाना दिन की शुरुआत एक मुट्ठी कच्चे, अंकुरित या भुने हुए कद्दू के बीजों से करें।
  • इसके अलावा, आप रात में सोने से पहले कद्दू के बीज के तेल से बालों या स्कैल्प पर मालिश कर सकते हैं।
  • बेहतर परिणाम के लिए रोजाना यह उपाय करें।
कैसे है लाभदायक :

कद्दू के बीजों में आयरन और एल-लाइसीन भरपूर मात्रा में पाए जाता है। ये पोषक तत्व बालों को झड़ने से रोक कर बालों के विकास में मदद कर सकते हैं (3), (43)। आयरन और एल-लाइसीन की पूर्ति के लिए आप कद्दू के बीजों का सेवन कर सकते हैं।

2. स्वस्थ बाल

स्वस्थ बालों के लिए आप भुने/कच्चे/अंकुरित कद्दू के बीजों का सेवन कर सकते हैं या कद्दू के बीजों के तेल से बालों और स्कैल्प की मालिश कर सकते हैं। कद्दू के बीज आयरन और प्रोटीन जैसे पोषक तत्वों से समृद्ध होते हैं, जो बालों को स्वस्थ रखने का काम करते हैं (44), (45)।

3. रूसी से छुटकारा

रूसी से छुटकारा पाने के लिए भी आप कद्दू के बीज का सेवन और कद्दू के बीज के तेल का प्रयोग ऊपर बताए गए तरीके से ही कर सकते हैं। कद्दू के बीज जिंक से समृद्ध होते हैं, जो आपको डैंड्रफ की समस्या से निजात दिलाने में मदद कर सकते हैं (3), (46)।

शरीर के लिए कद्ददू के बीज के फायदे जानने के बाद आगे जानिए इसमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में।

कद्दू के बीज के पौष्टिक तत्व – Pumpkin Seeds Dietary Worth in Hindi

नीचे दी जा रही तालिका के माध्यम से जानिए कद्दू के बीज में कौन-कौन से पोषक तत्व मौजूद होते हैं (3)।

पोषक तत्व मात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी 4.50g
ऊर्जा 446kacl
प्रोटीन 18.55g
कार्बोहाइड्रेट g
कुल लिपिड (वसा) 19.40g
फाइबर, कुल डाइटरी 18.4g
मिनरल्स
कैल्शियम 55mg
आयरन 3.31mg
मैग्नीशियम 262mg
फास्फोरस 92mg
पोटैशियम 919mg
सोडियम 18mg
जिंक 10.30mg
विटामिन
विटामिन-सी 0.3mg
थियामिन 0.034mg
राइबोफ्लेविन 0.052mg
नियासिन 0.
विटामिन-बी6 0.037mg
फोलेट, डीएफई 9µg
विटामिन-बी12 0.00µg
विटामिन ए, RAE 3µg
विटामिन ए IU 62IU
विटामिन-डी (डी 2 + डी 3) 0.00µg
विटामिन-डी 0IU
लिपिड
फैटी एसिड, कुल सैचुरेटेड 3.370g
फैटी एसिड, कुल मोनोअनसैचुरेटेड 6.032g
फैटी एसिड, कुल पॉलीअनसैचुरेटेड 8.844g
कोलेस्ट्रॉल 0

कद्दू के बीज के पोषक तत्व जानने के बाद नीचे जानिए कद्दू के बीज का चयन और इसे स्टोर किस प्रकार किया जाए। इसके बाद हम जानेंगे कि कद्दू के बीज का सेवन कैसे करें।

कद्दू के बीज का चयन और लंबे समय तक सुरक्षित रखना – Choice and Storage of Pumpkin Seeds in Hindi

चयन
  • कद्दू के बीज आप किसी भी सुपरमार्केट या किराने की दुकान से खरीद सकते हैं। कद्दू के बीज बीच से गहरे हरे रंग के होते हैं और भुने, नमकीन व कच्चे रूप में उपलब्ध होते हैं।
  • कद्दू के बीज खरीदते समय यह जरूर सुनिश्चित कर लें कि वो ताजा हों। अगर वो सिकुड़े हुए दिखाई दें या उनमें से दुर्गंध आ रही हो, तो आप इन बीजों से बचें।
  • आप चाहें तो ऑर्गेनिक कद्दू के बीजों का भी चयन कर सकते हैं।
स्टोर
  • आप सूखे या भुने हुए कद्दू के बीजों को किसी ठंडी और अंधेरी जगह में एयरटाइट कंटेनर की मदद से स्टोर कर सकते हैं।
  • लंबे समय तक स्टोर करने के लिए आप कद्दू के बीजों को फ्रीजर में भी रख सकते हैं।

कद्दू के बीज के गुण और उससे संबंधित अन्य जानकारी के बाद अब जान लेते हैं कद्दू के बीज का सेवन कैसे करें।

कद्दू के बीज का उपयोग – How you can Use Pumpkin Seeds in Hindi

कद्दू के बीज स्वादिष्ट और गुणकारी खाद्य पदार्थों में शामिल हैं, जिनका आप विभिन्न तरीके से सेवन कर सकते हैं। नीचे जानिए कद्दू के बीज खाने के कुछ बेहतरीन टिप्स।

  • आप कद्दू के बीज को ऐसे ही खा सकते हैं।
  • कद्दू के बीज को भून कर खाया जा सकता है।
  • आप कद्दू के बीज अंकुरित कर खा सकते हैं।
  • आप कद्दू के बीजों को सलाद (वेजिटेबल या फ्रूट) के ऊपर छिड़क कर खा सकते हैं।
  • इसके अलावा, कद्दू के बीज का इस्तेमाल आप सूप, पास्ता या मीठे पकवानों में भी कर सकते हैं।

कद्दू के बीज कैसे खाएं जानने के बाद अब नीचे जानिए कद्दू के बीज के नुकसान।

कद्दू के बीज के नुकसान – Aspect Results of Pumpkin Seeds in Hindi

शरीर के लिए कद्दू के बीज के फायदों के अलावा, इसके कुछ नुकसान भी हैं। नीचे जानिए कद्दू के बीज के कुछ दुष्प्रभाव –

कद्दू के बीज फाइबर से समृद्ध होते हैं और अधिक फाइबर का सेवन पेट में गैस, दर्द, सूजन और ऐंठन का कारण बन सकता है (3), (1)।

कद्दू के बीज कैल्शियम से भी भरपूर होते हैं और कैल्शियम का अधिक सेवन पेट में सूजन, कब्ज और गैस की वजह बन सकता है (3), (47)।

कद्दू के बीजों में पोटैशियम भी भरपूर मात्रा में मौजूद होता है, जिसका अधिक सेवन हाइपरकलेमिया की वजह बन सकता है। हाइपरकलेमिया की वजह से सांस लेने में तकलीफ, सीने में दर्द, उल्टी और मतली हो सकती है (3), (48)।

अब तो आप सामान्य-से दिखने वाले कद्दू के बीज के फायदे जान गए होंगे। अगर आप स्वास्थ्य के लिए प्राकृतिक चिकित्सा पर भरोसा रखते हैं, तो बताई गई समस्याओं के लिए कद्दू के बीजों को अपने दैनिक आहार में जरूर शामिल करें। उम्मीद है कि कद्दू के बीज पर लिखा यह लेख आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगा। अगर आपने इन बीजों का सेवन किया है, तो नीचे कमेंट बॉक्स में हमें अपने अनुभव जरूर बताएं। आप अन्य जानकारी के लिए हमसे सवाल भी पूछ सकते हैं।

संबंधित आलेख



About admin

Check Also

How To Look Pretty Without Makeup

Picture: 123rf Wanting fairly with out make-up is feasible. Have you ever heard that some …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *